Blog

ये बिंदिया करे क्या इशारे…

ज्योंतिषाचार्य सरिता गुप्ता

नारी के सोलह श्रंगारों में से एक है बिंदी। बिंदी न हो तो बाकी श्रंगार मानों अधूरे-से लगते हैं। बिंदी का महत्व् महज श्रंगार तक सीमित नहीं है। इसके और भी मायने हैं। बिंदी शब्द- बिंदू से जन्मा है। बिंदू अर्थात वह आध्यात्मिक केंद्र जिसका

© 2017 © Best Astrology Solutions All the rights reserved.